Home अर्थव्यवस्था भारतीय बजट की कुछ महत्वपूर्ण बिंदु { सरल शब्दों में }

भारतीय बजट की कुछ महत्वपूर्ण बिंदु { सरल शब्दों में }

20
0
SHARE
भारतीय बजट की कुछ महत्वपूर्ण बिंदु { सरल शब्दों में }
Image Source : India.com

भारत ने अपने वित्तीय वर्ष २०१८-१९ का बजट पेश कर दिया, ये बजट नरेंद्र मोदी के लिए एक टेस्ट की तरह देखा जा रहा था, आईये देखते है 2019 के चुनाव से पहले के इस बजट के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु।  

इनकम टैक्स स्लैब 60  वर्ष से काम उम्र वालो के लिए :-

इनकम टैक्स स्लैब                                इनकम टैक्स रेट
 २५००००                                         कुछ नहीं देना टैक्स
२५००००-५०००००                              5  % टैक्स
५००००० -१००००००                              20  % टैक्स
१०,००००० से ऊपर                              30 % टैक्स

इनकम टैक्स स्लैब 60  वर्ष से ज्यादा उम्र  वालो के लिए :

इनकम टैक्स स्लैब                                इनकम टैक्स रेट
 300000                                          कुछ नहीं देना टैक्स
300000 – 500000                            5  % टैक्स
500000  – 1000000                           20  % टैक्स
1000000  से ऊपर                              30 % टैक्स

जीडीपी

भारत की जीडीपी दर का अनुमान 7. 5  का रखा गया है , फाइनेंस मिन्स्टर का कहना है की ये 8 फीसदी तक जाने की पूरी सम्भावना है।

खर्चा

आने वाले सालो में सरकार स्वास्थ, शिक्षा , और सोशल सिक्योरिटी में १. 39 ट्रिलियन ( खरब ) खर्चा करेगी। रेलवे के बजट पे १. 41 ट्रिलियन खर्चा करेगी।

इंफ्रास्ट्रक्चर

14 . 31  ट्रीलियन सरकार खर्चा कारगी इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट पे खर्चा करेगी।

कृषि

सरकार का इस बजट में विशेष धयान कृषि पर था , जहा किसानो को लगात का 1. 5 गुना खर्च देने का व्यादा किया गया , 10 ट्रिलियन रूपया कृषि कार्यो के उधार के लिए आबंटित रखा गया।  एवं कृषि उत्पाद निर्यात को और खुला बनाया जायेगा इसका वादा किया गया।

 शिक्षा

सरकार ने शिक्षा के कम्पलीट दिगिटाइज़ेशन का आश्वासन दिया है , 1 लाख करोड़ शिक्षा के कम्पलीट उपग्रडेशन के लिए लगाया जायेगा।  2022 तक हर ब्लॉक जहा 50% आबादी ST होगी वहां एकलव्य विद्यालय खोला जायेगा।

स्वास्थ एवं प्रदुषण

सरकार ने इस बजट में स्वास्थ एवं प्रदुषण पे विशेष ध्यान देने की बात की है , 5coroe गरीब परिवारों को 5 लाख तक का सालाना स्वास्थ इन्शुरन्स देने की बात की गयी है।  वायु प्रदूषण को रोकने के लिए विशेष प्रावधान करने की बात की गयी है।

अडयान विभाग ( aviation )

उड़ान स्कीम के दौरान 64 एयरपोर्ट को जोड़ने की बात की गयी है , इस स्कीम के लोए 60 करोड़ रूपए आबंटित की गयी है।