Home स्टार्टउप इंडिया Trichy के दो दोस्तों ने जीरो से बनाया मिलियन डॉलर कंपनी...

Trichy के दो दोस्तों ने जीरो से बनाया मिलियन डॉलर कंपनी सुनिए उनकी कहानी।

251
0
Macappstudio suresh & gorge story from zero to million
Image source : https://bizztor.com

जॉर्ज और सुरेश दो दोस्त तीरछी के एक छोटे से गाओ से जिन्होंने शुरू की  MacAppStudio    एक छोटे से कमरे से  वो बताते है, MNC में काम करने के बाद हमने एक साथ ऐप्लीकेशन बनाना शुरू कर दिया और कई ऐप डेवलपर  चैलेंज जीते बहुत से अप्प बनाये। और ऐप develop के लिए इंटेल ब्लैकबेल्ट नामक सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार प्राप्त करें और हम इस पुरस्कार  पाने वाले भारत में सबसे पहले है हमें इंटेल से दुनिया का सबसे मूल्यवान डेवलपर पुरस्कार भी मिला है जहां कैश प्राइज एक साथ 100K अमरीकी डालर से अधिक थे।

हमने हाई पेइंग जॉब छोड़ दी हमने अपने दिल की सुनी और अप्प बनाने की कमपनी खोली , लोगो ने कहा हम पगला गए है , हमारी फॅमिली को भी हमारे हाई पेइंग जॉब की अदात हो चुकी थी|

वो हमारे जीवन का सबसे कहथिन दौर था। हमारे पास पैसे नहीं थे हमने घर से ही काम करना शुरू किया , हमे सोशल होने का टाइम नहीं था की किसी कंपनी से फंडिंग ले पाए तो हमने डिसाइड किया की हम अपने पैसे से ही बिज़नेस बढ़ाएंगे , ४ महीने बाद हमने छोटा ऑफिस लिया , हमारे पास फैन के लिए पैसे नहीं थे तो हमने नहीं लिया हमने सोचा हम अब जो लेंगे कंपनी प्रॉफिट से ही लेंगे , यहाँ बहुत गर्मी थी हम 4 महीने उसी कमरे में गर्मी में अपने पैशन के साथ काम करते रहे ,उसके ३ मिनट बाद हमने इनवॉटर लिया और उसके ५ महीने बाद AC.

हमने बहुत ही अप्प बनाये , १ एमबीपीएस से हमने शुरू किया आज हमारे ऑफिस की इंटरनेट स्पीड १०० MBPS है।हमारे जोड़ी परफेक्ट है , में बहुत aggrasive हु और जॉर्ज थोड़ा कन्वेंशनल तो हम परफेक्ट बनाते है.

हमने शुरू में २ टॉप मैक बुक प्रो लिया था जो की लोन में था वही हमारे बिज़नेस का एक लौता इन्वेस्टमेंट था जो हमने किया था। हमने और कोई इन्वेस्टमेंट नहीं किया , हमने आज तक कंपनी में अपने आप को रजिस्टर नहीं किया , हम पार्टनरशिप फर्म में रजिस्टर है क्योकि एक क्लाइंट ने पेमेंट के लये बिज़नेस अकाउंट मांगा था। सफलता आपको परखे गी कि आप यात्रा करने के लिए सही व्यक्ति हैं या नहीं, वो आपको जमीन में पटक देगी फिर आपको मुस्कान देगी।

सफलता के लिए आपको ये मुश्किल रास्ता पार  करना ही पड़ेगा अगर आप ये रास्ता पार  नहीं करंगे तो सफलता आपको कभी नहीं दिखेगी।

मुझे आज भी याद है जब हमने कंपनी छोर अपना काम शुरू किया था जॉर्ज का एक बीटा हुआ था और मेरी सेकंड चाइल्ड एक्सपेक्टेड थी , निर्णय बहुत कठिन था हमारे लिए लेकिन आसानी से कुछ मिलता भी तो नहीं।